Music Note Letter e
Music Note Letter g
Music Note Letter a
Music Note Letter l
Music Note Letter o
Music Note Letter b
Music Note Letter i
Music Note Letter z
  • Remember me

Lrc होशवालों को ख़बर by जगजीत सिंह

होशवालों को ख़बर - जगजीत सिंह LRC Lyrics - Donwload, Copy or Adapt easily to your Music

LRC contents are synchronized by Megalobiz Users via our LRC Generator and controlled by Megalobiz Staff. You may find multiple LRC for the same music and some LRC may not be formatted properly.
1930 - होशवालों को ख़बर by जगजीत सिंह [05:05.08] 2 years ago
by Guest
Copied
Office Copy Icon Copy
Edit Time [xx:yy.zz] x 0 Views x 16 Download x 0
LRC TIME [05:05.08] may not match your music. Click Edit Time above and in the LRC Maker & Generator page simply apply an offset (+0.8 sec, -2.4 sec, etc.)
[ar:जगजीत सिंह]
[al:सरफ़रोश]
[ti:होशवालों को ख़बर]
[au:अमनदीप]
[length:05:05.08]
[by:टाक]
[re:www.megalobiz.com/lrc/maker]
[ve:v1.2.3]
[00:13.88]होश वालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज़ है
[00:23.64]होश वालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज़ है
[00:33.87]इश्क़ कीजे फिर समझिए
[00:38.87]इश्क़ कीजे फिर समझिए
[00:43.64]ज़िंदगी क्या चीज़ है
[00:48.37]होश वालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज़ है
[01:24.36]उनसे नज़रें क्या मिलीं रोशन फ़िज़ाएं हो गईं
[01:34.38]उनसे नज़रें क्या मिलीं रोशन फ़िज़ाएं हो गईं
[01:54.70]आज जाना प्यार की जादूगरी क्या चीज़ है
[02:04.89]आज जाना प्यार की जादूगरी क्या चीज़ है
[02:15.12]इश्क़ कीजे फिर समझिए
[02:20.41]इश्क़ कीजे फिर समझिए
[02:24.91]ज़िंदगी क्या चीज़ है
[02:40.63]खुलती ज़ुल्फ़ों ने सिखाई मौसमों को शायरी
[03:00.41]खुलती ज़ुल्फ़ों ने सिखाई मौसमों को शायरी
[03:10.86]झुकती आँखों ने बताया मैकशी क्या चीज़ है
[03:20.93]झुकती आँखों ने बताया मैकशी क्या चीज़ है
[03:31.12]इश्क़ कीजे फिर समझिए
[03:36.20]इश्क़ कीजे फिर समझिए
[03:41.15]ज़िंदगी क्या चीज़ है
[03:56.38]हम लबों से कह न पाए उनसे हाल-ए-दिल कभी
[04:16.63]हम लबों से कह न पाए उनसे हाल-ए-दिल कभी
[04:26.91]और वो समझे नहीं ये ख़ामोशी क्या चीज़ है
[04:37.37]और वो समझे नहीं ये ख़ामोशी क्या चीज़ है
[04:47.37]इश्क़ कीजे फिर समझिए
[04:52.39]इश्क़ कीजे फिर समझिए
[04:57.41]ज़िंदगी क्या चीज़ है